‘इस जहां की नहीं हैं तुम्हारी आंखें’, बस 2 मिनट में जानें कैसें रखें इनका ख्याल

नई दिल्ली ;

दिल्ली में धुंध और कोहरे से हमारी सेहत पर तो असर होता ही है, लेकिन खामियाजा सबसे ज्यादा आंखों को भुगतान पड़ता है. आंखें हमारे शरीर का सबसे नाजुक तथा अनमोल अंग होती हैं. बदलते लाइफस्टाइल ने ज्यादातर लोगों की आंखों पर चश्मा चढ़ा दिया है. लगातार कंप्यूटर पर काम करते रहने के कारण आंखों की नमी खत्म हो रही है. कंप्यूटर स्क्रीन से निकलने वाली रोशनी आंखों के लिए कितनी खतरनाक है. कंप्यूटर पर लगातार घंटों तक काम करने से आंखों में थकान, धुंधलापन, सिर में दर्द और आंखों के आसपास काले घेरे की समस्या हो जाती है. इसलिएकाम के साथ-साथ आंखों का भी ध्यान रखना बहुत जरूरी है.

काम से समय बस दो मिनट का समय निकाल कर यहां बताए जा रहे टिप्स को ध्यान से पढ़ें और बताई जा रही बातें पर अमल करें तो निश्चित ही आप अपनी आंखों को लंबे समय तक दुरुस्त रख सकते हैं.

कंप्यूटर पर काम करते समय आपके और कंप्यूटर स्क्रीन के बीच में उचित दूरी होनी चाहिए. जिससे कंप्यूटर से निकलने वाली किरणों का आपकी आंखों पर ज्यादा प्रभाव ना पड़े. विशेषज्ञ बताते हैं कि कंप्यूटर और आंखों के बीच दूरी कम से कम एक फुट होनी चाहिए.

आपके वर्किंग प्लेस पर पर्याप्त रोशनी होनी चाहिए. ऐसा ना हो कि आपको काम के लिए आंखों पर ज्यादा जोर डालना पड़ रहा हो. ऑफिस में पर्याप्त मात्रा में रोशनी होनी चाहिए. रोशनी सफेद हो तो ज्यादा अच्छा रहेगा.

काम के बीच-बीच में कुछ पलों के लिए आंखों को बंद करके उन्हें आराम दें. पलक झपकते रहने से आंखों में नमी बनी रहेगी. आंखों की उंगली से मसाज की करें. बीच-बीच में उठकर आंखों को पानी से धोएं.

अगर आप लगातार कंप्यूटर पर काम कर रहे हैं तो बीच-बीच में ब्रेक लेते रहें. कंप्यूटर सीट छोड़कर चहलकदमी करें और आंखों के साथ शरीर को भी थोड़ा आराम दें. ताजा हवा का आनंद लें.

अक्सर सिर दर्द में हम गोली खाते रहते हैं, लेकिन ज्यादातर मामलों में देखा गया है कि सिर में दर्द आंखों की कमजोरी के कारण होता है. ऐसे में समय-समय पर डॉक्टर से मिलकर आंखों का चैकअप कराते रहें. अगर डॉक्टर कहे तो उचित नंबर का चश्मा पहनें.

चश्मे का प्रेम हल्का और आरामदायक होना चाहिए. चश्मे का साइज बहुत छोटा न हो, न ज्यादा ढीला हो और न टाइट हो. चश्मा आपकी आंखों को पूरी तरह कवर कर सके, ऐसा होना चाहिए. चश्मे का फ्रेम ऐसा हो जो पहनने पर आपको आराम दे। कान और नाक पर भार न पड़े.

आंखों के साथ-साथ स्वस्थ्य शरीर के लिए 8 घंटे की भरपूर नींद लेना जरूरी है. कम नींद से आंखों पर जोर पड़ता है और आंखें लाल रहती हैं. आंखों को तरोताजा रखने के लिए गुलाब जल में रूई भिगोकर आंखों पर रखें.

आंखों के जरूरी तत्वों को अपने खाने में शामिल करें. गाजर, पालक तथा दाल आदि में आंखों को दुरुस्त रखने वाले तत्व होते हैं. इसलिए इनका पर्याप्त मात्रा में सेवन करें.

loading...