गिलगित में 12 स्‍कूलों में देर रात लगाई गई आग, सभी स्‍कूल लड़कियों के

नई दिल्‍ली ; 

पाकिस्तान के अशांत गिलगित-बाल्टिस्तान में अज्ञात व्यक्तियों ने 12 बालिका विद्यालय जला दिए, जिसके बाद स्थानीय लोगों ने अक्सर आतंकवादियों के निशाने पर रहने वाले शैक्षणिक संस्थानों की सुरक्षा की मांग करते हुए प्रदर्शन किया. मीडिया में ऐसी खबर आई है.

पुलिस ने बताया कि गिलगित से करीब 130 किलोमीटर दूर चिलास में गुरुवार देर रात अज्ञात व्यक्तियों ने इन विद्यालयों में आग लगा दी. उन्होंने पूरे डायमर जिले में स्कूल संपत्ति को नुकसान भी पहुंचाया. जियो न्यूज ने पुलिस अधिकारियों के हवाले से खबर दी, ‘‘दो विद्यालयों में धमाके भी किए गए.’’

इन हमलों के बाद स्थानीय बाशिंदों ने सिद्दिकी अकबर चौक पर प्रदर्शन किया तथा अपराधियों की गिरफ्तारी एवं शैक्षणिक संस्थानों की सुरक्षा की मांग की. पाकिस्तान के उत्तरी हिस्से में बालिका विद्यालय अक्सर आतंकवादियों के निशाने पर होते हैं. पुलिस ने गुनाहगारों की धर-पकड़ के लिए तलाशी अभियान चलाया है. जिला प्रशासन के मुताबिक ये विद्यालय निर्माणाधीन थे.

अभी तक इस घटना ने किसी ने जिम्‍मेदारी नहीं ली है. गिलगित में जिन 12 स्‍कूलों को जलाया गया है, उनके नाम इस तरह हैं…

अभी तक इस घटना ने किसी ने जिम्‍मेदारी नहीं ली है. गिलगित में जिन 12 स्‍कूलों को जलाया गया है, उनके नाम इस तरह हैं…

-गर्ल्‍स स्‍कूल, तक्‍या]

-सोशल एक्‍शन प्रोग्राम प्राइमरी स्‍कूल, हुदूर क्षेत्र

-आर्मी पब्लिक स्‍कूल, देरल तहसील

-प्राइमरी स्‍कूल, टबोर गांव

-SAP प्राइमरी स्‍कूल, टबोर

-APS तंगीर घाटी

-गर्ल्‍स प्राइमरी स्‍कूल, शिगेय मनीकल

-गर्ल्‍स प्राइमरी स्‍कूल, गली बाला, तंगीर वैली

-प्राइमरी स्‍कूल, गली बाला, तंगीर वैली

-गर्ल्‍स प्राइमरी स्‍कूल, खानबरी

-गर्ल्‍स प्राइमरी स्‍कूल, ग्‍याल गांव

स्‍थानीय नागरिकों और पत्रकारों ने कहा हि उन्‍होंने जीपीएस रोनेय और गर्ल्‍स स्‍कूल, तक्‍या में धमाके की आवाज सुनी, लेकिन पुलिस ने धमाके से संबंधी खबरों की जानकारी नहीं दी.

loading...