त्राल मुठभेड़ में मारे गए 4 आतंकियों में एक जैश-ए-मोहम्मद का कमांडर, मसूद अजहर का था करीबी

जम्मू ;

जम्मू एवं कश्मीर पुलिस ने गुरुवार (26 अप्रैल) को कहा कि मंगलवार (24 अप्रैल) को त्राल के वनक्षेत्र में हुई मुठभेड़ में मारे गए चार आतंकवादियों में से एक जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) का कमांडर था. राज्य के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) एस.पी.वेद ने कहा, “त्राल के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में शुरू की गई संयुक्त कार्यवाही में मारे गए आतंकवादियों में जेईएम के ऑपरेशनल कमांडर मुफ्ती यासीर भी थे.” गौरतलब है कि आठ घंटे चली मुठभेड़ में जेईएम के चार आतंकवादी, एक जवान और राज्य पुलिस का एक हवलदार भी मारा गया.

डीजीपी ने मारे गए आतंकवादी की तस्वीर ट्विटर पर अपलोड की, जिसमें वह जेईएम के संस्थापक मसूद अजहर के साथ खड़ा है. यह तस्वीर मीडिया ने कुछ सालों पहले पाकिस्तान में ली थी.

अजहर को 1999 में जम्मू जिले की कोटबलवाल जेल से रिहा कर अफगानिस्तान के कंधार ले जाया गया था, जहां उसे इंडियन एयरलाइंस की उड़ान संख्या आईसी814 के बंधक बनाए गए 158 यात्रियों के बदले छोड़ दिया गया था. मुठभेड़ में मारे गए दो अन्य आतंकवादियों में शेख उमर और मुस्ताक अहमद जरगर भी थे, उन्हें भी यात्रियों को बंधक बनाए जाने के बदले छोड़ दिया गया था.

उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में बीते 22 अप्रैल को सुरक्षाबलों ने एक आतंकी ठिकाने को ध्वस्त कर दिया और वहां से भारी मात्रा में हथियार एवं गोला बारूद बरामद किया. एक पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि एक गुप्त सूचना के आधार पर सुरक्षाबलों की एक संयुक्त टीम ने हंदवाड़ा के वात्सर वन्यक्षेत्र में तलाशी अभियान चलाया.

उन्होंने बताया कि आतंकी ठिकाने से एक पीका बंदूक, एक बजूका, रेडियो सेट, 940 पीका कारतूस, तीन साइलेंसर, छह एके मैगजीन, चार देशी आईईडी प्रणाली, आठ किलोग्राम आईईडी, 21 यूबीजीएल, एक हथगोला, चार आरपीजी, 15 आरपीजी बूस्टर, 20 विद्युत डोटोनेटर, चार डेटोनेटर बॉक्स और एक मैग्जीन बॉक्स जब्त किया गया.

loading...