दिल्ली: ब्लू व्हेल ने छात्र को बनाया शिकार, टॉस्क पूरा करने पर फंदे से झूला बीटेक का स्टूडेंट

ऑनलाइन खेला जाने वाला खूनी खेल ब्लू व्हेल को लेकर सरकार कितनी भी मुस्तैदी दिखाए, लोगों में जागरूकता फैलाए, मगर मौत की यह मछली लगातार बच्चों को अपना शिकार बना रही है. ताजा मामला दिल्ली में देखने को मिला है. यहां द्वारका में रहने वाले बीटेक के छात्र ने अपने घर में फांसी लगाकार आत्महत्या कर ली. घटना के समय घर के अन्य लोग एक शादी में शामिल होने के लिए गए हुए थे. परिजनों का कहना है कि ब्लू व्हेल के चक्कर में छात्र की जान गई है. हालांकि पुलिस इससे इनकार कर रही है.

जानकारी के मुताबिक, बागपत के बड़ौत इलाके के शिकोहपुर गांव के रहने वाले संजीव आर्यन दिल्ली के द्वारका सेक्टर-13 स्थित रोजवुड अपार्टमेंट में रहते हैं. उनका बेटा राज दिल्ली के ही एक कॉलेज से बीटेक कर रहा था.
पुलिस ने बताया कि मंगलवार को संजीव अपने परिवार के साथ एक शादी समारोह में हिस्सा लेने के लिए यूपी के शामली गए हुए थे. उन्होंने राज से भी शादी में जाने के लिए कहा, लेकिन राज ने तबीयत सही नहीं होने की बात कहते हुए उनके साथ जाने से इनकार कर दिया.

संजीव के जाने के बाद दोपहर को उनके एक दोस्त ने संजीव को फोन करके कुछ कागजात मांगे. चूंकि वे घर पर नहीं थे इसलिए उन्होंने अपने दोस्त को घर जाकर राज से कागज लेने की बात कही. इस दौरान संजीव और उनके मित्र ने राज को कई बार फोन किया, लेकिन राज ने उनका फोन नहीं उठाया. कुछ गड़बड़ी की आशंका होने पर संजीव के मित्र उनके फ्लैट पर पहुंचे और दरवाजा खुलवाने की कोशिश की. कई बार कोशिश करने पर जब दरवाजा नहीं खुला तो उन्होंने पुलिस को इस बात की सूचना दी.

मौके पर पहुंची पुलिस फ्लैट का दरवाजा तोड़ कर जब घर में दाखिल हुई तो एक कमरे में राज को पंखे से लटका हुआ देखा. पुलिस ने राज को नीचे उतारा और परिजनों को इसकी सूचना दी. बाद में लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया. पुलिस के मुताबिक मौके पर को सुसाइट नोट नहीं मिला है़. हां, राज का फोन जरूर फार्मेट किया हुआ था.

राज के परिजनों ने शंका जाहिर की है कि राज ब्लू व्हेल गेम खेलता था और उसी के चलते उसने आत्महत्या की है. उधर, पुलिस का कहना है कि राज के शरीर पर ब्लू व्हेल खेलने जैसे कोई निशान नहीं मिले हैं. जबकि इस खेल में खिलाड़ी टॉस्क पूरा करते हुए शरीर पर व्हेल का निशान बनाता है.

loading...