बनना चाहते हैं धनवान तो अपनाएं ये तरीके, ऐसे तैयार हो जाएगा आपका बैंक बैलेंस

अमीर बनने के लिए जरूरी नहीं है कि आपकी सैलरी बहुत ज्यादा हो या फिर आपका बिजनेस हमेशा मुनाफे में हो. कम सैलरी और थोड़े मुनाफे में भी बचत करके अमीर बना जा सकता है. इसके लिए जरूरी है कि इन्वेस्टमेंट सही तरीके से और सही जगह पर हो. पैसे होने के बावजूद हम यह तय नहीं कर पाते कि इन्हें कहां और कैसे निवेश किया जाए. यकीनन अगर सही दिशा मिले तो शुरुआत से छोटी बचत करके भी बड़ी पूंजी जुटाई जा सकती है. हमारी सहयोगी वेबसाइट जी बिजनेस हिंदी ने बताए अमीर बनने के टिप्स. इनके जरिए आप बचत तो करेंगे ही, धनवान भी बन सकते हैं.

निवेश का विकल्प जरूरत के मुताबिक चुनें. मसलन, मासिक आवश्यकताएं, आप की उम्र, सैलरी, रिक्स प्रोफाइल और इन्वेस्टमेंट के प्लान जानने के बाद ही निवेश करें. सबसे जरूरी है कि आप कितने रिटर्न की उम्मीद कर रहे हैं. ये समझने के बाद तय करें कि निवेश शॉर्ट टर्म में करना है या लॉन्ग टर्म में.

अगर आप हर महीने 3200 रुपए की बचत करते हैं और इस राशि पर आपको 10 फीसदी की दर से रिटर्न मिलता है तो 30 सालों के बाद आपके पास लगभग 72 लाख 94 हजार रुपए हो जाएंगे.

बचत की राशि को सैलरी अकाउंट में रखने के बजाए दूसरे सेविंग अकाउंट में रखें. उस पैसे को अलग-अलग जगह निवेश करें. पोस्ट आफिस और बैंकों की विभिन्न सेविंग स्कीम इसका सबसे आसान और सेफ विकल्प है. इसके साथ ही शेयर मार्केट, म्युचुअल फंड, पीपीएफ, इंश्योरेंस और LIC अच्छे रिटर्न देने वाले विकल्प हैं.

ये सेक्टर निवेश के लिए हाई रिस्क और हाई रिटर्न वाला है. हालांकि, शेयर बाजार में कई कंपनियां ऐसी हैं, जो निवेश के लिए सुरक्षित मानी जाती हैं. जैसे बैंकिंग सेक्टर, पावर सेक्टर, आईटी सेक्टर, ऑटो सेक्टर आदि. बैंकिंग में SBI, HDFC बैंक, ICICI बैंक का पुराना रिकॉर्ड देखते हुए भरोसेमंद शेयरों में गिना जाता है. पावर सेक्टर में NTPC, आईटी में इंफोसिस, विप्रो, TCS, मेटल में हिंडालको, टाटा स्टील, टिस्को, ऑटो सेक्टर में मारुति, टैक्सटाइल में रिलायंस इंडस्ट्रीज आदि बेहतर विकल्प माने जाते हैं.

गोल्ड, सिल्वर आदि निवेश के हिसाब से बेहतर साबित होते आए हैं. हालांकि, कुछ समय से इसमें अच्छा रिटर्न नहीं मिल रहा. लेकिन बाजार विशेषज्ञ लॉग टर्म के हिसाब से इसे अच्छा ऑप्शन मानते हैं. इसमें अपनी बचत का 15 से 25% ही निवेश करें तो ज्यादा बेहतर रहेगा.

ये सिस्टमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान है. इसमें इन्वेस्टर पैसा डायरेक्ट भी लगा सकता है. हालांकि, ज्यादातर लोग फंड मैनेजर के माध्यम से निवेश करते हैं. इसमें आप हर महीने अपनी सेविंग के हिसाब से धन लगा सकते हैं. हर साल 12 से 15% तक रिटर्न मिल जाता है. इसमें भी थोड़ा रिस्क है, क्योंकि यह भी शेयर मार्केट पर निर्भर होता है.

आरडी अकाउंट में भी निवेश किया जा सकता है. आरडी में भी अच्छा रिटर्न मिलता है. इसके अलावा फिक्स डिपॉजिट का भी विकल्प बेहतर है. लेकिन, सारा पैसा फिक्स डिपॉजिट में न लगाएं. क्योंकि, अचानक जरूरत पड़ने पर यदि आप एफडी तोड़ते हैं, तो आपको कम ब्याज मिलता है. साथ ही, कभी-कभी बैंक पेनल्टी भी लगा देते हैं.

आप वेतनभोगी हों या बिजनेसमैन. अपनी बचत का करीब 25% लॉन्ग टर्म में निवेश करें. लंबी अवधि निवेश में पब्लिक प्रोविडेंट फंड, प्रोविडेंट फंड और लाइफ इंश्योरेंस अच्छा है. PPF और PFमें मौजूदा समय में 8 फीसदी से 8.55% वार्षिक रिटर्न मिल रहा है.

एलआईसी में कई स्कीम हैं. इनमें बीमारी, एक्सीडेंट, लोन सुविधा कवर होने के साथ-साथ परिपक्वता में मोटी राशि मिल जाती है. एलआईसी में 5 से 7% रिटर्न मिलता है. इससे आप खुद और फैमिली सुरक्षित रहती है. परिवार पर दबाव नहीं पड़ता. बच्चों की पढ़ाई, विवाह जैसे काम होने पर धनराशि मिलती रहती है.

रियल एस्टेट अच्छा विकल्प है, लेकिन इसमें निवेश करने से पहले वर्तमान हालात देख लेने चाहिए. कोशिश करें की बहुत महंगी प्रॉपर्टी न हो. क्योंकि, कभी-कभी बाजार में गिरावट होने से ज्यादा नुकसान की संभावना रहती है. इसके अलावा अगर आपने इक्विटी में रुपए लगा रखे हैं और 2-3 साल में वह अच्छा रिटर्न देते हैं, तो उन रुपयों को रियल एस्टेट में शिफ्ट कर देना भी समझदारी वाला निर्णय हो सकता है.

loading...