बायोपिक के सवाल पर बोले अनिल कपूर, ‘न ही बने तो अच्छा है, लोग देख नहीं पाएंगे’

नई दिल्ली ; 

बॉलीवुड एक्टर  अनिल कपूर  इन दिनों अपनी फिल्म ‘फन्ने खां’ को लेकर काफी बिजी हैं. यह फिल्म 3 अगस्त को सिनेमाघरों में दस्तक दे चुकी हैं. फिल्म बॉक्स ऑफिस पर अभी तक ज्यादा कमाल नहीं  दिखा पाई है लेकिन क्रिटिक्स ने इस फिल्म को काफी पसंद किया है. इस फिल्म में काफी साल बाद अनिल कपूर और ऐश्वर्या राय बच्चन एक साथ काम करते नजर आ रहे हैं. हाल ही में एक इवेंट के दौरान अनिल कपूर ने अपनी जिंदगी के कुछ पल साझा करते हुए कहा कि वो नहीं चाहते कि उनकी बायोपिक बने.

अनिल कपूर नाटकॉन 2018 में आयोजित रियल स्टेट सम्मेलन के लिए बर्लिन में हैं. अनिल कपूर से जब उनकी बायोपिक बनाने पर सवाल किया गया तो अनिल कपूर ने  कहा कि दर्शक उनकी बायोपिक देखना पंसद नहीं करेंगे क्योंकि वह बहुत बोरिंग होगी. अनिल ने ऐसा इसलिए कहा क्योंकि आजतक उनकी लाइफ में कोई कंट्रोवर्सी नहीं हुई है. अनिल ने आगे बताते हुए अपनी लाइफ से जुड़ा एक वाकया मीडिया से शेयर किया है.

उन्होंने बताया कि एक बार वह भारतीय फिल्म एवं टेलीविजन संस्थान की लिखित परीक्षा में फेल हो गये थे तो हैरान हो गये. अनिल ने बताया कि वो उस समय लिखित परीक्षा और एक्टिंग के बीच का संबंध नहीं समझ पाए. बाद में उन्होंने अपने प्रोफेसर से इस विषय में बात कि तो उन्होंने कहा नियम तो नियम है और वह सबके लिए लागू होता है. परीक्षा में फेल हो गये तो क्या पर आज जिस मुकाम पर अनिल हैं वह काबिले तारीफ है.

फिल्म ‘फन्ने खां’ के बाद अनिल कपूर अपनी अगली फिल्म ‘एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा’ की शूटिंग कर रहे हैं. इस फिल्म में पहली बार अनिल कपूर और सोनम कपूर एक साथ स्क्रीन शेयर करते नजर आएंगे हैं.

loading...