महेंद्र सिंह धोनी नहीं बन पाए ’10 हजारी’, फैन्स हुए विराट कोहली से नाराज

नई दिल्ली ;  

पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी बेशक टी-20 सीरीज से बाहर हो गए हैं, लेकिन वेस्टइंडीज के खिलाफ आखिरी वनडे मैच में वह एक बड़ी उपलब्धि के करीब थे. वन-डे में महेंद्र सिंह धोनी 9999 रन बना चुके हैं. यानी वह दस हजार रन बनाने से केवल एक रन दूर हैं. अगर पांचवे वन-डे में वह एक रन बना लेते तो वह पांचवें ऐसे भारतीय बन जाते जिन्होंने वन-डे में 10 हजार रन बनाए हैं, लेकिन इस मैच में धोनी को बल्लेबाजी का मौका नहीं मिला और वह फिर एक एक बार इस माइलस्टोन से दूर रह गए.

महेंद्र सिंह धोनी के इस मुकाम को हासिल नहीं कर पाने के लिए सोशल मीडिया पर फैन्स ने विराट कोहली के काफी नाराजगी जाहिर की है. फैन्स का कहना है कि विराट कोहली ने धोनी को 10 हजार रन बनाकर रिकॉर्ड नहीं बनाने दिया.

बता दें कि टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने वनडे प्रारूप में 10,000 रन पूरे कर चुके हैं. उनके कुल 10,173 रन हैं. उन्होंने 2007 में अफ्रीका एकादश के खिलाफ एशियाई एकादश के लिए तीन मैचों की सीरीज में 174 रन बनाए थे. हालांकि, भारत के लिए खेलते हुए वन-डे प्रारूप में धोनी ने कुल 9,999 रन बनाए हैं. उन्होंने ब्रेबॉर्न स्टेडियम में वेस्टइंडीज के खिलाफ 23 रन बनाए और 10 हजारी बनने से केवल एक रन पीछे रह गए थे.

अब एक बार फिर तिरुवनंतपुरम में खेले गए पांचवे वन-डे मैच में भी महेंद्र सिंह धोनी इस मुकाम को हासिल करने से चूक गए हैं. दरअसल, इस मैच को रोहित शर्मा और विराट कोहली ने अपनी ही बल्लेबाजी के दम पर जीत लिया और धोनी को बल्लेबाजी का मौका ही नहीं मिल पाया.

गौरतलब है कि भारतीय क्रिकेट टीम ने धमाकेदार प्रदर्शन करते हुए ग्रीनफील्ड अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम में खेले गए सीरीज के निर्णायक मैच में वेस्टइंडीज को नौ विकेट से हराते हुए पांच मैचों की सीरीज 3-1 से अपने नाम कर ली. भारत ने बल्ले और गेंद दोनों से अपना वर्चस्व दिखाते हुए विंडीज को पस्त किया. टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी मेहमान टीम 31.5 ओवरों में सिर्फ 104 रन ही बना सकी. भारत ने इस बेहद आसान से लक्ष्य को 14.5 ओवरों में एक विकेट खोकर हासिल कर लिया.

यह वेस्टइंडीज का भारत के खिलाफ वनडे में सबसे कम स्कोर है. इससे पहले उसने 27 अप्रैल 1997 में पोर्ट ऑफ स्पेन नें वनडे में भारत के खिलाफ 121 रन बनाए थे.

भारत ने सीरीज का पहला मैच जीत था. दूसरा मैच टाई रहा और तीसरे मैच में विंडीज ने जीत हासिल करते हुए सीरीज 1-1 से बराबरी पर ला दी थी. भारत ने चौथा वन डे जीता और 2-1 की बढ़त ली. अगर इस पांचवे वनडे में वेस्टइंडीज की टीम जीतती तो सीरीज 2-2 से बराबरी पर छूटती लेकिन ऐसा नहीं हुआ और भारतीय टीम ने धमाकेदार प्रदर्शन के साथ यह मैच जीता और सीरीज 3-1 से अपने नाम कर ली.

loading...