सिंगापुर : जबरन वसूली के आरोप में भारतीय नागरिक गिरफ्तार, जाएगा जेल?

सिंगापुर ; 

सिंगापुर में स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक से पांच लाख सिंगापुरी डॉलर की वसूली करने का प्रयास करने वाले 35 वर्षीय एक भारतीय नागरिक पर यहां की एक अदालत में आरोप लगाया गया है. ‘द स्ट्रेट्स टाइम्स’ ने बुधवार को खबर दी है कि ‘जबरन वसूली का प्रयास करने के मामले’ में नागराजन बालाजी को दो से पांच साल जेल और बेंत से पिटाई की सजा हो सकती है.

अदालत के दस्तावेजों के मुताबिक, बालाजी ने 500,000 सिंगापुरी डॉलर की राशि नहीं देने पर स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक में डिजिटल बैंकिंग के वैश्विक प्रमुख आलीशान जैदी (47) के खिलाफ कथित तौर पर मानहानिकारक सामग्री प्रकाशित करने की धमकी दी थी. बैंक के कुछ कर्मचारियों में जैदी भी शामिल थे जिन्हें गुमनाम तरीके से धमकी भरा ई-मेल भेजा गया था. उन्होंने बैंक की तरफ से पुलिस में रिपोर्ट दर्ज करायी थी.

पुलिस के मुताबिक, बालाजी को सिंगापुर के उपनगर में कोवन रोड से 30 सितंबर को गिरफ्तार किया गया था. मामले के सिलसिले में उसके पास से कई लैपटॉप और मोबाइल फोन जब्त किए गए थे.  बैंक ने पिछले गुरुवार को पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई थी जिसमें बताया गया था कि कैसे गोपनीय जानकारी लीक करने की उसे धमकी दी गई.

‘द स्ट्रेट्स टाइम्स’ के मुताबिक माना जा रहा है कि बैंक को गुमनाम तरीके से धमकी देने के लिए बालाजी ने कई फर्जी ई-मेल बना रखे थे. हालांकि अब तक न तो किसी अधिकारी ने इस बात की पुष्टि की है और न ही किसी स्थानीय अखबार ने इसकी पुष्टि की है. बालाजी इस समय जमानत पर है. मामले की सुनवाई के दौरान 30 अक्टूबर को वह अदालत में उपस्थित होगा.

loading...