सीबीआई छापेमारीः मौनी बाबा ना बनें नीतीश, लालू मामले पर सामने रखें अपना पक्षः गिरिराज सिंह

नई दिल्ली ;

रेलवे में कथि‍त आईआरसीटीसी घोटाले को लेकर शुक्रवार सुबह से ही पटना, रांची सहित देश में लालू और उनके करीबियों के करीब 12 ठिकानों पर सीबीआई छापेमारी के मामले में बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह नीतीश कुमार से सवाल किया है. गिरिराज सिंह ने कहा है कि नीतीश कुमार इस मामले में मौनी बाबा बने हुए हैं और उन्हें अपना मौन तोड़ना होगा.

बिहार बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुशील मोदी ने भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से इस मामले पर चुप्पी तोड़ने की बात कही है. उन्होंने कहा है कि नीतीश को अपनी सरकार से डिप्टी सीएम तेजस्वी को हटाना चाहिए.

वहीं इस मामले पर आरजेडी के राष्ट्रीय प्रवक्ता मनोज झा ने इसे लोकतंत्र के लिए काला दिन करार दिया है. उन्होंने कहा कि हम इससे झुकने वाले नहीं है, हम इस लड़ाई को कानूनी और राजनीतिक रूप से लड़ेंगे.

बिहार बीजेपी के एक और वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री राजीव प्रताप रूडी ने लालू यादव के ठिकानों पर सीबीआई के छापे मारे जाने पर कहा कि “आप अपने आप को बड़ा नेता मानते है, इसका मतलब ये नहीं कि आप कानून से ऊपर है.”

बिहार सरकार में लालू की सहयोगी कांग्रेस पार्टी ने कहा है कि साल 2004 के मामले में इतने दिनों तक बीजेपी चुप क्यों थी? पिछले तीन साल से मोदी सरकार क्यों चुप थी ?

दूसरी तरफ सरकार ने इस छापेमारी को लेकर किसी तरह की भूमिका से इंकार किया है. केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने कहा कि सरकार और भाजपा की लालू प्रसाद यादव और उनके परिवार पर सीबीआई के छापों में कोई भूमिका नहीं है. वेंकैया नायडू ने लालू और उनके परिवार के खिलाफ छापों पर कहा कि सीबीआई अपना काम कर रही है और कानून में उसे मिले अधिकारों के अनुसार काम कर रही है.

आपको बता दें कि राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के ठिकानों पर शुक्रवार को हुई छापेमारी को लेकर सीबीआई ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर जानकारी दी है. केंद्रीय जांच एजेंसी के एडिशनल डायरेक्टर राकेश अस्थाना ने रेलवे होटल टेंडर्स घोटाले को लेकर की गई छापेमारी पर कहा कि लालू प्रसाद यादव के रेलमंत्री रहते गड़बड़िया हुई. टेंडर के बदले लालू यादव को बदले में सस्ती जमीन देने का आरोप है. सीबीआई ने होटलों के रखरखाव के लिए निविदाएं देने में कथित अनियमितताओं के मामले में यह छापेमारी की है.

loading...