CIA डायरेक्टर रहे माइक पोम्पिओ बने अमेरिका के 70वें विदेश मंत्री

वॉशिंगटन ;

माइक पोम्पिओ ने शुक्रवार (27 अप्रैल) को अमेरिका के 70 वें विदेश मंत्री के रूप में शपथ ली. इससे पहले अमेरिकी सीनेट ने उनके नामांकन की पुष्टि कर दी थी. शपथ ग्रहण समारोह के तुरंत बाद अमेरिका के विदेश विभाग ने घोषणा की कि पोम्पिओ 26 अप्रैल से 30 अप्रैल तक ब्रसेल्स, रियाद, यरुशलम और अम्मान की यात्रा करेंगे. इससे पहले सीनेट ने पूर्व सीआईए निदेशक पोम्पिओ के नाम की 42 के मुकाबले 57 मतों से पुष्टि की. उन्होंने रेक्स टिलरसन की जगह ली जिन्हें राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने गत महीने बर्खास्त कर दिया था.

पोम्पियो ने जारी बयान में कहा, “मैं विदेश मंत्री बनकर खुश हूं और इस जिम्मेदारी से अभिभूत हूं. मैं अमेरिकी लोगों की सेवा करने को लेकर आशान्वित हूं और अभी से इस जिम्मेदारी को संभाल रहा हूं.” विदेश विभाग की प्रवक्ता हीथर नोर्ट ने कहा, ‘‘सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश सैमुअल अलितो ने अदालत के वेस्ट कांफ्रेंस कक्ष में माइक पोम्पिओ को विदेश मंत्री पद की शपथ दिलाई.’’

उन्होंने कहा, ‘‘वह हमेशा अमेरिका के हितों को आगे रखेंगे. मेरा उनपर भरोसा है. मेरा समर्थन उनके साथ है. आज अमेरिका का 70 वां विदेश मंत्री बनने पर मैं उन्हें बधाई देता हूं.’’ अमेरिका के उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने भी ट्वीट करके पोम्पिओ को बधाई दी. रिपब्लिकन ने पोम्पियो के पक्ष में वोट किया. इसके अलावा निर्दलीय सीनेटर एंगस किंग ने भी उनके समर्थन में वोट किया. इसके अलावा कई डेमोक्रेट्स ने पोम्पियो के समर्थन में वोट किया, जिसमें सीनेटर वेस्ट वर्जीनिया से जो मैनचिन, अलाबामा से डफ जोन्स, नॉर्थ डकोटा से हेदी हेटकैंप और इंडियाना से जो डॉनेली ने भी पक्ष में वोट किया.

राष्ट्रपति डेनाल्ड ट्रंप ने बयान जारी कर सीनेट द्वारा पोम्पियो की नियुक्ति को मंजूरी देने का स्वागत किया. सीनेट द्वारा पोम्पियो को हरी झंडी मिलने के बाद ट्रंप ने कहा कि वह पोम्पियो को देश के 70वें विदेश मंत्री के तौर पर सीनेट द्वारा मंजूरी मिलने से खुश हैं. ट्रंप ने कहा, “वह (पोम्पियो) अमेरिका के हितों को सबसे पहले रखेंगे. मुझे उन पर विश्वास है. उन्हें पूरा समर्थन हैं.”

loading...