INDvsAUS: ऑस्ट्रेलिया में मैन ऑफ द सीरीज रहे चेतेश्वर पुजारा, खोला सफलता का राज

सिडनी ;  

टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया दौरे की टेस्ट सीरीज में 2-1 की ऐतिहासिक जीत हासिल की है.  भारत की रन मशीन चेतेश्वर पुजारा ने ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर पहली बार टेस्ट सीरीज जीतने वाली वर्तमान टीम के बारे में सोमवार को यहां कहा कि वह अब तक जितनी भी टीमों का हिस्सा रहे हैं उनमें यह सर्वश्रेष्ठ है. पुजारा ने 74.42 की औसत से 521 रन बनाये जिसमें तीन शतक शामिल हैं. उन्हें इस ऐतिहासिक जीत पर मैन आफ द सीरीज चुना गया.

भारत की सीरीज में 2-1 से जीत के बाद पुजारा ने कहा, ‘‘यह हम सबके लिये शानदार अहसास है. हमने विदेशों में सीरीज जीतने के लिये कड़ी मेहनत की और ऑस्ट्रेलिया में सीरीज जीतना कभी आसान नहीं रहा. मैं जिन भारतीय टीमों का हिस्सा रहा उनमें यह सर्वश्रेष्ठ है. मैं टीम के सभी साथियों को बधाई देता हूं.’’ पुजारा ने गेंदबाजी आक्रमण की जमकर तारीफ की. उन्होंने कहा, ‘‘हम चार गेंदबाजों के साथ खेले और 20 विकेट लेना आसान नहीं है. इसलिए श्रेय तेज गेंदबाजों और स्पिनरों को जाता है. यह उल्लेखनीय है.’’

टेस्ट सीरीज में अपनी शानदार फार्म के बारे में पुजारा ने कहा, ‘‘मैं अपने योगदान से वास्तव में बहुत खुश हूं. एक बल्लेबाज के रूप में मैंने तेजी और उछाल से सामंजस्य बिठाया. इसके अलावा दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड में खेलने से मुझे अपनी तकनीक में सुधार करने में मदद मिली. मेरे लिहाज से यह सब तैयारियों से जुड़ा है और मैं अच्छी तरह से तैयार था.’’ पुजारा ने एडीलेड में सीरीज के पहले मैच में शतक को विशेष करार दिया. उन्होंने कहा, ‘‘एडीलेड में शतक लगाना और फिर 1-0 से बढ़त हासिल करना. हमारा यही लक्ष्य था. ’’

भविष्य की अपनी योजनाओं के बारे में उन्होंने कहा, ‘‘मैं स्वदेश में कुछ प्रथम श्रेणी मैचों और आईपीएल के दौरान काउंटी क्रिकेट में खेलूंगा. अगली टेस्ट सीरीज छह-सात महीने बाद है और इससे मुझे तैयारियों के लिये कुछ समय मिलेगा. मैं सीमित ओवरों की क्रिकेट खेलना चाहता हूं पर टेस्ट क्रिकेट मेरी प्राथमिकता है और यह हमेशा रहेगा.’’

वहीं ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन ने स्वीकार किया कि एक मजबूत टीम ने उनकी टीम को हर विभाग में मात दी और भारत जीत का हकदार था. पेन ने कहा, ‘‘भारत को जीत पर बधाई. हम जानते हैं कि भारत में जीतना कितना मुश्किल है इसलिए विराट और रवि को बधाई क्योंकि यह बड़ी उपलब्धि है. वे सीरीज में जीत के हकदार थे.’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम पिछले दो टेस्ट मैचों में अपने प्रदर्शन से वास्तव में निराश हैं. एडीलेड में हमारे पास मौके थे और पर्थ में हमने अच्छी क्रिकेट खेली लेकिन मेलबर्न और सिडनी में हमारी टीम किसी भी समय मुकाबले में नहीं रही. ’’

loading...