INDvsENG: केएल राहुल ने हासिल किया खास मुकाम, लेकिन रहाणे की बराबरी नहीं कर सके

नॉटिंघम ; 

टीम इंडिया इंग्लैंड के तीसरे टेस्ट में जीत से केवल एक विकेट दूर ही रह गई है. मैच के चौथे दिन इंग्लैंड की दूसरी पारी में 9 विकेट गिर गए हैं जबकि उसे जीत के लिए अभी भी 210 रनों की जरूरत है. इस मैच में टीम इंडिया के कई खिलाड़ियों ने कोई न कोई उपलब्धि हासिल की. जसप्रीत बुमराह के पांच विकेट  विराट कोहली का शतक और सीरीज में 400 से ज्यादा रन, हार्दिक पांड्या के पांच विकेट और 50, ऋषभ पंत के करियर की पहली पारी में पांच कैच, ईशांत शर्मा के चौथे दिन उनके पहले दो ओवर में दो विकेट जैसी खास बातें इस मैच में रहीं. इनके अलावा केएल राहुल ने भी एक खास मुकाम हासिल किया राहुल ने इस मैच में अब तक कुल सात कैच पकड़े हैं.

इंग्लैंड की टीम चौथे दिन 521 रनों की विशाल स्कोर का पीछा कर रही थी. दोनों ही सलामी बल्लेबाजों को ईशांत शर्मा ने दिन के पहले तीन ओवर में ही पवेलियन भेज दिया था. जब टीम का स्कोर 62 रनों पर पहुंचा तब जसप्रीत बुमराह की गेंद जो रूट अपने बल्ले का किनारा दे बैठे और केएल राहुल ने कैच पकड़ने में कोई गलती नहीं की. इस तरह इंग्लैंड को बड़ा झटका लग गया. यह केएल राहुल का इस मैच का पांचवा कैच था.

इसके बाद राहुल ने छठा कैच बेन स्टोक्स का पकड़ा जब वे 62 रन बनाकर हार्दिक पांड्या की गेंद आउट हुए उस समय इंग्लैंड का स्कोर 241 रन था. उसके बाद जसप्रीत बुमराह की गेदं पर स्टु्अर्ट ब्रॉड का विकेट लिया उसका कैच केएल राहुल ने पकड़ा जो कि उनका मैच का सातवां कैच था.

केएल राहुल टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले 7वें खिलाड़ी हो गए हैं. एक ही मैच में सबसे ज्यादा कैच पकड़ने का रिकॉर्ड भारत के अजिंक्य रहाणे के नाम है जो इस मैच में खेल रहे हैं. उन्होंने गाले में श्रीलंका के खिालफ 2015 में 8 कैच लिए थे. उनके बाद ऑस्ट्रेलिया के ग्रैग चैपल ने भारत के खिलाफ 1974 में पर्थ में, भारत के यजुवेंद्र सिंह ने इंग्लैंड के खिलाफ 1977 में बेंगलुरू में, श्रीलंका के हसन तिलकरत्ने ने कोलंबों में न्यूजीलैंड के खिलाफ 1992 में, न्यूजीलैंड के स्टीफन फ्लेमिंग ने जिम्बाब्वे के खिलाफ हरारे में 1997 में और ऑस्ट्रेलिया के मैथ्यू हेडन ने श्रीलंका के खिलाफ गाले में 2004 में 7-7 कैच लिए हैं.  उसके बाद केएल राहुल ने नॉटिंघम में 7 कैच लिए.

खास बात यह है कि एक ही मैच में दो खिलाड़ियों ने पांच पांच कैच लिए. केएल राहुल और ऋषभ पंत की जोड़ी चौथी जोडी है, उससे पहले सौरव गांगुली और एसएस दास ने बांग्लादेश के खिलाफ 2000 में, पर्थ में 1992 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ के श्रीकांत और किरण मोरे ने, और 1989 में पाकिस्तान के खिलाफ करांची में मोहम्मद अजहरुद्दीन और किरण मोरे ने पांच पांच कैच लिए थे.

loading...